सीधे मुख्य कॉन्टेंट पर जाएं
डैशबोर्ड पर जाएं
क्या आपको जानकारी नहीं है कि कहां से शुरू करना है? अपने हिसाब से सुझाव पाने के लिए, छोटे से क्विज़ में हिस्सा लें.
एल तिएम्पो

कोलंबिया के दैनिक अखबार ने डिजिटल टैलेंट इनक्यूबेटर कार्यक्रम लॉन्च किया

एल तिएम्पो को टेक्नोलॉजी की जानकारी रखने वाले लोगों की ज़रूरत थी. इसलिए, उन्होंने हाल ही में ग्रैजुएट हुए छात्र-छात्राओं के लिए नियुक्ति और प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू किया, ताकि उन्हें न्यूज़ इंडस्ट्री की ओर आकर्षित किया जा सके .
El Tiempo staff in front of a large screen
El Tiempo members looking at a computer screen

डिजिटल दौर में, समाचार संगठनों को टेक्नोलॉजी के जानकारों की ज़रूरत

एक सदी से ज़्यादा समय से, कोलंबिया का दैनिक अखबार एल तिएम्पो अपनी बेहतरीन पत्रकारिता के लिए जाना जाता है. उन्होंने साल 1996 में अपने अखबार का ऑनलाइन संस्करण लॉन्च किया. उनकी कोशिश रही कि वह नई टेक्नोलॉजी के साथ इस डिजिटल दौर की हर चीज़ को अपनाने में आगे रहें. आज उनकी वेबसाइट के पास दुनिया भर के 3.5 करोड़ यूनीक उपयोगकर्ता हैं.

इस डिजिटल युग में, मोबाइल का इस्तेमाल करने वालों की संख्या तेज़ी से बढ़ी है. ऐसे में दूसरे समाचार पब्लिशर की तरह, एल तिएम्पो को भी इन लोगों के साथ अप-टू-डेट रहने में परेशानी हो रही थी. इतना ही नहीं, इस अखबार को टेक्नोलॉजी के जानकार लोगों को ढूंढने और अपने साथ बनाए रखने में भी मुश्किल हुई. चीफ़ डिजिटल ऑफ़िसर, डिएगो बायेहो ने कहा, “टेक्नोलॉजी की तेज़ रफ़्तार और COVID की वजह से पूरी मीडिया इंडस्ट्री को [टेक्नोलॉजी के जानकार लोगों की भर्ती करने में] चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा था.”

Headshot
मेरा सुझाव है कि मीडिया जगत की दूसरी कंपनियों को, लोगों का हुनर निखारने के बारे में सोचना चाहिए. हाल ही में ग्रैजुएट छात्र-छात्राओं को आकर्षित करने के लिए, Google News Initiative और एल तिएम्पो साथ आए, ताकि कंपनी में डिजिटल टेक्नोलॉजी से जुड़ी नौकरियों को भरा जा सके.
यूलिथ बेलासकेस
एल तिएम्पो में ह्यूमन रिसोर्स ऐंड ऑर्गेनाइज़ेशनल डेवलपमेंट की हेड

पत्रकारिता में टेक्नोलॉजी के जानकारों को आकर्षित करना

वैसे तो, एल तिएम्पो का पत्रकारिता प्रशिक्षण कार्यक्रम काफ़ी अच्छा है, लेकिन टेक्नोलॉजी कौशल रखने वाले, कंपनी को बहुत जल्दी-जल्दी छोड़ रहे थे. टेक्नोलॉजी से जुड़ा काम करने वाले 60% कर्मचारी, एक साल बाद ही नौकरी छोड़ रहे थे.

ह्यूमन रिसोर्स ऐंड ऑर्गेनाइज़ेशनल डेवलपमेंट की हेड यूलिथ बेलासकेस ने कहा, “हमें साल-दर-साल टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में काम करने वाले लोगों को नौकरी पर रखने और उन्हें अपने साथ जोड़े रखने की चुनौती का सामना करना पड़ा.” “हमारा मुकाबला सिर्फ़ कोलंबिया की दूसरी कंपनियों से ही नहीं था, बल्कि उन बड़ी मल्टीनैशनल कंपनियों से भी था जो लोगों को कहीं से भी नौकरियों पर रख रही थीं.”

एक डेटा एनालिस्ट, जो डेटा की समीक्षा करके उपयोगकर्ताओं के व्यवहार को समझने और कारोबार को बढ़ाने के लिए जानकारी जुटाता है उसकी भर्ती करना खास तौर पर मुश्किल काम था.

  • 22 टेक्नोलॉजी के क्षेत्र से जुड़े पेशेवरों को प्रशिक्षण दिया
  • 16 एल तिएम्पो ने टेक्नोलॉजी से जुड़े काम करने वालों को नौकरी दी
  • 3 दूसरे मीडिया संगठनों ने टेक्नोलॉजी से जुड़े काम करने वालों को नौकरी दी

एक डिजिटल टैलेंट इनक्यूबेटर की शुरुआत

डिजिटल विज्ञापन क्षमताओं को बनाने के लिए, एल तिएम्पो ने पहले Google News Initiative (GNI) के Ad Transformation Lab के साथ मिलकर काम किया है. यह अखबार, साल 2019 में Google News Initiative इनोवेशन चैलेंज का लैटिन अमेरिकन विजेता बना. यह एक ग्लोबल कार्यक्रम है, जो डिजिटल पत्रकारिता को आगे बढ़ाने में समाचार संगठनों की मदद करता है. इसके तहत, अखबारों को विज्ञापन देने वालों के लिए सेल्फ़ सर्विस पोर्टल बनाने में मदद दी जाती है.

साल 2021 में, एल तिएम्पो ने GNI की टीम के साथ दोबारा काम किया. दोनों ने मिलकर, पत्रकारिता के क्षेत्र में नई प्रतिभाओं को आकर्षित करने के लिए एक इंटरशिप कार्यक्रम को डिज़ाइन किया. इसके तहत उन्हें ऐसी टेक्नोलॉजी से जुड़े कौशल की ट्रेनिंग भी दी जाती है जिनकी मांग काफ़ी ज़्यादा है. बायेहो ने कहा, “हम ट्रेनिंग देने वाली कंपनी एक हैं और मीडिया इंडस्ट्री में एक बड़ा नाम भी. हमने GNI के साथ मिलकर इस बात पर सोच-विचार किया कि किस तरह कर्मचारियों को [नौकरी छोड़ने से] रोका जा सकता है और ट्रेनिंग को कैसे बेहतर बनाया जाए.”

कार्यक्रम को तीन चीज़ों पर फ़ोकस करते हुए तैयार किया गया: डेटा स्ट्रेटजी मैनेजमेंट, इंर्फ़ोमेशन डिजिटल मैनेजमेंट, और डिजिटल टेक्नोलॉजी मैनेजमेंट. डिजिटल टैलेंट इनक्यूबेटर कार्यक्रम को हाल ही में कॉलेज से ग्रैजुएट हुए छात्र-छात्राओं के लिए शुरू किया गया था. इसमें, उन लोगों को शामिल किया गया जिन्होंने इंजीनियरिंग, गणित या उससे जुड़े क्षेत्रों में पढ़ाई की थी और जिनके पास काम करने का कोई अनुभव नहीं था.

डिजिटल मीडिया ईकोसिस्टम में बदलाव

इस कार्यक्रम में 15 स्थानों के लिए, करीब 100 आवेदकों ने रुचि दिखाई. इस सफलता को देखते हुए एल तिएम्पो ने, कार्यक्रम के तहत खाली स्थानों की संख्या को बढ़ाकर 22 कर दिया. GNI ने पाठ्यक्रम को बनाने में मदद दी. साथ ही, इंटर्न की सैलरी और अतिरिक्त हार्डवेयर (जैसे प्रिंटर, माउस वगैहर) के लिए भी, GNI ने फंडिंग मुहैया कराई.

यह कार्यक्रम एक साल, जुलाई 2021 से जुलाई 2022 तक चला. जिन्होंने कार्यक्रम से हिस्सा लिया उन्हें न्यूज़रूम में काम करने वाले दिग्गज़ों से काम सीखने का मौका मिला और नौकरी करते हुए ट्रेनिंग दी गई. लोगों को डेटा विश्लेषण और प्रबंधन के लिए, Google Analytics और Google Trends जैसे टूल इस्तेमाल करने का तरीका सिखाया गया. इस ट्रेनिंग के बाद, इन लोगों को कंपनी में एक स्थायी नौकरी का ऑफ़र मिला. एल तिएम्पो ने 16 लोगों को नौकरी पर रखा, जबकि छह लोगों को या तो अन्य मीडिया संगठनों से नौकरी मिली या वे कोई दूसरी नौकरी तलाशने लगे. एल तिएम्पो और GNI ने दिसंबर 2022/जनवरी 2023 में दोबारा यह कार्यक्रम लॉन्च किया.

बायेहो ने कहा कि टैलेंट इनक्यूबेटर की मदद से, एल तिएम्पो को मार्केट में प्रतिस्पर्धी बने रहने के लिए काबिल कर्मचारी मिले. साथ ही, कर्मचारियों को लेकर इसी तरह की चुनौतियों का सामना कर रहे दूसरे पब्लिशर को भी एक मॉडल मिला. “यह कार्यक्रम न सिर्फ़ ग्रैजुएट होने वाले छात्र-छात्राओं को एल तिएम्पो से सीखने का अच्छा मौका देता है, बल्कि कोलंबिया के डिजिटल मीडिया ईकोसिस्टम में प्रतिभाशाली लोगों को जोड़ भी रहा है.”

Leave and lose progress?
By leaving this page you will lose all progress on your current lesson. Are you sure you want to continue and lose your progress?