सीधे मुख्य कॉन्टेंट पर जाएं
डैशबोर्ड पर जाएं
क्या आपको जानकारी नहीं है कि कहां से शुरू करना है? अपने हिसाब से सुझाव पाने के लिए, छोटे से क्विज़ में हिस्सा लें.
6 में से 5 लेसन
Google Ads की मदद से साइट पर ट्रैफ़िक बढ़ाएं
5 मिनट पूरा करने के लिए

Google Ads की मदद से साइट पर ट्रैफ़िक बढ़ाएं

अपने सबसे अच्छे लेखों से ज़्यादा ट्रैफ़िक पाएं

Google Ads क्या है?

Blank

लोग, खबरों वाला कॉन्टेंट खोजने के लिए Google Search के अलग-अलग सेक्शन को ब्राउज़ करते हैं और उनमें खोज करते हैं. इसलिए, Search पर कॉन्टेंट कैसे दिखाया जाए, इसकी अच्छी रणनीति अपनाकर अपना कॉन्टेंट इन अलग-अलग जगहों पर दिखाया जा सकता है. ऐसा करने के लिए आपको क्या करना चाहिए? Google Ads, ऑनलाइन विज्ञापन दिखाने की एक सुविधा है. इससे अपने समाचार संगठन को खोज के नतीजों में प्रमोट किया जा सकता है.

क्या मुझे Google Ads का इस्तेमाल करने की ज़रूरत है?

कई समाचार संगठन पैसे देकर दिखाए जाने वाले विज्ञापनों का इस्तेमाल नहीं करते. हालांकि, अगर आपके संगठन को एक तय किए गए लक्ष्य तक पहुंचना है, तो Search में उसके कॉन्टेंट का विज्ञापन दिखाया जा सकता है. इससे वह कॉन्टेंट ज़्यादा लोगों को दिखेगा और संगठन अपने तय किए गए लक्ष्य को पूरा कर सकेगा. अगर आपको यहां दिए गए लक्ष्यों में से किसी एक को भी पूरा करना है, तो Google Ads आपके काम आ सकता है:

  • पैसे चुकाकर सदस्य बनने वाले लोगों की संख्या बढ़ाना
  • न्यूज़लेटर के सदस्य बढ़ाना
  • किसी खास विषय के बारे में लोगों को बताना
  • सदस्यता लेने वाले लोगों की संख्या बढ़ाना

Google Ads कैसे काम करता है?

Google Ads आपके संगठन के विज्ञापन को Search के नतीजों में विज्ञापनों के लिंक वाली जगह पर दिखाता है. आपके विज्ञापन की रैंकिंग हर क्लिक की लागत (सीपीसी) और क्वालिटी स्कोर के आधार पर तय की जाती है. सीपीसी वह शुल्क होता है जो आपका संगठन अपने विज्ञापन दिखाने के लिए चुकाता है. हर क्लिक की लागत, उन सभी कीवर्ड के लिए अलग-अलग होगी जिनके लिए आपने बिडिंग की है. आपकी साइट का क्वालिटी स्कोर इस आधार पर तय किया जाता है कि चुने गए कीवर्ड के लिए आपकी साइट कितने काम की है और साइट पर उपयोगकर्ताओं का अनुभव कैसा रहा.

Blank

जानें कि Google Ads का इस्तेमाल कैसे शुरू किया जा सकता है

Blank

पहला चरण

अपना लक्ष्य तय करें: पक्का करें कि अपने विज्ञापन कैंपेन के लिए आपके पास ट्रैक किया जा सकने वाला कोई लक्ष्य हो. उदाहरण के लिए, अपने नए न्यूज़लेटर के लिए कन्वर्ज़न बढ़ाना. पक्का करें कि लक्ष्य की प्रोग्रेस को ट्रैक किया जाता रहे.

दूसरा चरण

तय करें कि विज्ञापन कहां दिखाने हैं: आपके पास लोगों के छोटे से छोटे ग्रुप को विज्ञापन दिखाने की सुविधा होती है, जैसे कि स्थानीय समुदाय. ज़रूरत पड़ने पर, राष्ट्रीय या अंतरराष्ट्रीय लेवल पर भी अपने विज्ञापन बड़ी टारगेट ऑडियंस को दिखाए जा सकते हैं.

तीसरा चरण

अपने मैसेज बनाएं: इस बात को हाइलाइट करें कि ऑडियंस को आपके कारोबार या आपके विज्ञापन कैंपेन पर ध्यान क्यों देना चाहिए. इसके लिए, तीन छोटे वाक्यों का इस्तेमाल करें.

चौथा चरण

अपने कीवर्ड और बजट तय करें: तय करें कि हर महीने आपको कितना पैसा खर्च करना है. यह तय करने के लिए सूची बनाएं कि आपको कैंपेन के लिए कौनसे कीवर्ड इस्तेमाल करने हैं. साथ ही, हर विज्ञापन के लिए, हर क्लिक की लागत (सीपीसी) तय करें.

अगर आप कोई गैर-लाभकारी संस्था हैं, तो यह पता लगाएं कि क्या आपका संगठन Ad Grants की ज़रूरी शर्तें पूरी करता है या नहीं.

Blank

Google Analytics 4 के बारे में जानें

Blank

Google Analytics 4 में कौन-कौनसे सेक्शन हैं?

  • होम पेज
  • रिपोर्ट
  • एक्सप्लोर करें
  • विज्ञापन की सेवा
  • कॉन्फ़िगर करें
  • एडमिन

होम सेक्शन में, पिछले सात दिनों में आपकी साइट की परफ़ॉर्मेंस की जानकारी दिखती है. इनसाइट में, मशीन लर्निंग का इस्तेमाल करके आपके डेटा का विश्लेषण किया जाता है.

होम पर इनकी जानकारी देखी जा सकती है:

  • उपयोगकर्ता
  • नए उपयोगकर्ता
  • दर्शकों के जुड़ाव का समय
    • बिताया गया समय
    • सदस्यताओं से मिलने वाला रेवेन्यू
    • दान
    • विज्ञापन से होने वाली आय
  • मौजूदा समय में साइट पर मौजूद लोग

💡 सबसे सही तरीका: अगर आपको कोई जानकारी खोजने में परेशानी हो रही है, तो सबसे ऊपर दिए गए 'खोजें' बार का इस्तेमाल करें.

Blank

अपना लक्ष्य तय करें

Blank

आपके पास अपने विज्ञापन कैंपेन के लिए एक या एक से ज़्यादा लक्ष्य हो सकते हैं. जैसे, न्यूज़लेटर के सदस्यों की संख्या बढ़ाना, पैसे चुकाकर सदस्य बनने वाले लोगों की संख्या बढ़ाना, और किसी खास विषय के बारे में लोगों को जागरूक करना. दोनों ही स्थितियों में, आपको एक से ज़्यादा कैंपेन सेट अप करने चाहिए और हर कैंपेन के लिए अलग मैसेज देने चाहिए. साथ ही, हर कैंपेन के लिए कीवर्ड का ऐसा अलग सेट होना चाहिए जिसके लिए आपको Search के नतीजों में दिखाया जाए. इसके बाद, कैंपेन की परफ़ॉर्मेंस की तुलना करके, यह तय किया जा सकता है कि आने वाले समय में, पैसा किस कैंपेन पर लगाया जाए.

💡 सबसे सही तरीके:

Blank

तय करें कि विज्ञापन कहां दिखाने हैं

Blank

अगर आपका स्थानीय समाचार संगठन है, तो आपके पास अपनी स्थानीय ऑडियंस के मुताबिक, विज्ञापनों को इलाके के हिसाब से टारगेट करने की सुविधा होती है.

आपके पास स्मार्ट बिडिंग का इस्तेमाल करके यह तय करने का भी विकल्प होता है कि आपको किन कीवर्ड के लिए बिडिंग करनी है. हालांकि, इसके लिए आपको कम से कम 30 कन्वर्ज़न और आम तौर पर एक महीने से ज़्यादा का डेटा चाहिए होगा.

स्मार्ट बिडिंग ऐसी रणनीतियां होती हैं जो हर नीलामी में कन्वर्ज़न को ऑप्टिमाइज़ करने के लिए मशीन लर्निंग का इस्तेमाल करती हैं. इन रणनीतियों का इस्तेमाल इन कामों के लिए किया जा सकता है:

  • किसी भी कीमत पर (आम तौर पर ज़्यादा कीमत) सही लोगों को जोड़ने के लिए, अपनी बिड बढ़ाकर, लीड या बिक्री को बढ़ाना
  • कई सिग्नल के आधार पर अपनी बिडिंग में ज़रूरत के मुताबिक बदलाव करना. जैसे, उपयोगकर्ता का डिवाइस (अगर उपयोगकर्ता मोबाइल का इस्तेमाल करता है, तो बिड में बदलाव करना), उसकी जगह की जानकारी (ऐसे लेखों या पेजों को हाइलाइट करना जो उपयोगकर्ता के आस-पास के इलाके से जुड़े हों), दिन, समय वगैरह.
Blank

अपना मैसेज बनाएं

Blank

पहला चरण

ऐसे कॉल-टू-ऐक्शन (सीटीए) बनाएं जो आपकी ऑडियंस से कनेक्ट करते हों और मार्केटिंग के आपके लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करते हों.

दूसरा चरण

उन लैंडिंग पेजों या कॉन्टेंट को प्राथमिकता दें जिनका विज्ञापन चलाना है. ऐसे पेज चुनें जिनके खोजे जाने की संख्या ज़्यादा है और जहां सीटीए, ऑडियंस को आपके लक्ष्य तक पहुंचाते हों.

तीसरा चरण

ऐसे 10 लैंडिंग पेजों को चुनें जो अच्छा परफ़ॉर्म करेंगे और उन्हें अपने कैंपेन में ग्रुप करें. हर कैंपेन में कम से कम दो लैंडिंग पेज होने चाहिए

💡 सबसे सही तरीके

  • डिजिटल मार्केटिंग की ऐसी रणनीति बनाएं जहां सभी सीटीए, खाते की सेटिंग, कैंपेन, और कीवर्ड व्यवस्थित किए जा सकें.
  • ऐसे लैंडिंग पेजों को प्राथमिकता दें जो नए उपयोगकर्ताओं का ध्यान खींच सकें और उन्हें भरोसेमंद उपयोगकर्ता बना सकें
  • पक्का करें कि सीटीए, लैंडिंग पेज के ऊपरी हिस्से में हों. साथ ही, ये पेज के कई हिस्सों में होने चाहिए और समझने में आसान होने चाहिए
Blank

अपने बजट और कीवर्ड तय करें

Blank

आपके कैंपेन में एक से ज़्यादा ऐसे विज्ञापन ग्रुप होंगे जो चुनिंदा विषयों के हिसाब से व्यवस्थित किए जाएंगे. इससे आपको अपने कामों को व्यवस्थित रखने में मदद मिलेगी. हर विज्ञापन ग्रुप में कीवर्ड की सूची होगी, ताकि आपके विज्ञापन ग्रुप, सर्च करने वाले के इंटेंट से मेल खाते रहें.

हर कीवर्ड के लिए, हर क्लिक की औसत लागत (सीपीसी) होगी, जिसे अपने खाते पर देखा जा सकता है. आपके पास रोज़ाना या महीने का बजट तय करने का विकल्प भी होता है, ताकि Google Ads पर होने वाला खर्च मैनेज किया जा सके.

💡 सबसे सही तरीके:

  • Google Trends पर जाकर यह जानें कि आपका कॉन्टेंट देखने या पढ़ने वाले लोग किन शब्दों को शायद सबसे ज़्यादा खोजेंगे और उस हिसाब से कीवर्ड चुनें
  • विषयों के हिसाब से कैंपेन बनाएं और हर कैंपेन के लिए कम से कम 10 कीवर्ड सेट करें
  • अपने कैंपेन के लिए, रोज़ाना और हर महीने का बजट तय करें
  • समय-समय पर अपने कीवर्ड और विज्ञापन ग्रुप की परफ़ॉर्मेंस की जांच करें और ज़रूरत के हिसाब से उनमें बदलाव करें
Blank
आप इस लेसन से किस हद तक संतुष्ट हैं?
आपके सुझाव, राय या शिकायत से, हमें अपने लेसन को और बेहतर बनाने में मदद मिलेगी!
लेसन पूरा करने के लिए, इस सवाल का जवाब दें.
Google Ads को सेट अप करने के बाद सबसे पहला काम क्या करना चाहिए?
सबमिट करें
checklist (8)
क्विज़ पूरा हुआ
बधाई हो! आपने अभी-अभी इसे पूरा किया Increase site traffic with Google Ads
लेसन पढ़ें और फिर से कोशिश करें
in progress
Recommended for you
नतीजे सेव करें और अपनी प्रोग्रेस ट्रैक करें
By leaving this page you will lose all progress on your current lesson. Are you sure you want to continue and lose your progress?